विश्व शांति स्तूप के बारे में जानकारी (राजगीर)

हम इंसानों नें विकास तो बहुत किया। नई-नई तकनीक जीवन शैली को सुगम बनाया, चाँद, मंगल तक पहुंच गए किन्तु, हमने अशांति भी उतना ही फैलाया है।दुनिया क़े इतिहास मे हज़ारो नरसंहार इसका प्रतिक है।आज भी व्याप्त है हमारे दुनिया मे अशांति।दो बार विश्व युद्ध नें कई देश को बर्बादी क़े कगार पे लाकर खड़ा कर दिया था।किन्तु कुछ ऐसे सार्थक प्रयास किए गए है जिसे दुनिया मे शांति क़ायम हो सके, आज हम एक़ ऐसे ही प्रतिक क़े बारे मे जानेंगे जो की पुरे विश्व मे शांति प्रतिक माना जाता है।विश्व शांति स्तूप भारत क़े बिहार राज्य क़े नालंदा जिले क़े राजगीर मे स्तिथ है।यह बिहार क़े साथ साथ भारत का प्रमुख प्रयटक स्थलों मे से एक़ है। इसे देखने देश विदेश क़े प्रयटक आते है।विश्व शांति स्तूप को जापानी स्तूप या बुद्ध स्तूप भी बोला जाता है।इस स्तूप का निर्माण जापान फुजी गुरुओ क़े द्वारा भारत क़े सहयोग से बनाया गया है।

विश्व शांति स्तूप का इतिहास और बनाने का उद्देश्य :-

विश्व शांति स्तूप राजगीर का निर्माण 1969 को जापान के फूजी गुरुद्वारा कराया गया। द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद जापान में हुए तबाही के फिर से ना हो इसके लिए एहतियातन जापान के बौद्ध भिक्षुओं ने दुनिया भर में शांति के रूप से भगवान बुध का स्वरूप के रूप में विश्व शांति स्तूप का निर्माण कराया। बिहार में दो विश्व शांति स्तूप का निर्माण कराया गया है। एक वैशाली में और दूसरा राजगीर में, दोनों जगहों से भगवान बुध का नाता रहा है। राजगीर में स्थित विश्व शांति स्तूप रत्नागिरी पर्वत की चोटी पर स्थित है। जमीन से इसकी ऊंचाई 400 मीटर है और आप विश्व शांति स्तूप राजगीर के उच्चतम चोटी पर पहुंचने के लिए रोपवे का सहारा ले सकते हैं। जब आप विश्व शांति स्तूप राजगीर को देखेंगे यह आपको बहुत ही भव्य और दिव्य दिखेगा। उजले संगमरमर से गुंबद नुमा इस स्तूप को बनाया गया है। इस स्तूप में भगवान गौतम बुद्ध के सोन रुपीस 4 मूर्तियां विभिन्न आसनों में लगाई गई है, जोकि हमें शांति का संदेश देती है और साथ ही साथ जीवन के अनेकों सीख भी इस स्तूप से आप ले सकते हैं।इस स्तूप से ज़ब आप चारो तरफ देखेंगे तो हरियाली और प्रकृति की एक़ मनमोहक छटा आपको देखने को मिलेगी।

विश्व शांति स्तूप राजगीर जाने का मार्ग :-

विश्व शांति स्तूप भारत के बिहार राज्य के नालंदा जिले के राजगीर में स्थित है। बहुत ही आसानी से आप सड़क मार्ग या रेलवे मार्ग से पहुंच सकते हैं। यहां की नजदीकतम हवाई अड्डा पटना हवाई अड्डा है और नजदीक दम रेलवे स्टेशन राजगीर रेलवे स्टेशन है। अगर आप हवाई मार्ग से आते हैं तो सबसे पहले आप पटना के एयरपोर्ट उतर जाए फिर वहां से निर्णय ले कि आप रोड मार्ग से जाएंगे या ट्रेन मार्ग से अगर आप रोड मार्ग से अगर आप जाना चाहेंगे तो पटना के बस स्टैंड से आपको राजगीर के लिए बसें मिल जाएंगी। अगर आप ट्रेन मार्ग का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आप पटना या राजेंद्र नगर स्टेशन से लोकल ट्रेनों का परिचालन किया जाता है जिसकी सहायता से आप आसानी से राजगीर पहुंच सकते हैं. विश्व शांति स्तूप राजगीर स्टेशन या बस स्टैंड से महजतीन किलोमीटर की दूरी पर है और आपको बताते चलें कि राजगीर में जितने भी पर्यटक स्थल है वह सारे के सारे इन्हीं 4-5 किलोमीटर के दायरे के अंदर में है तो आप जब भी जाएंगे राजगीर तो आपको पर्यटक स्थल को ढूंढने में किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत न होगी। अगर आप राजगीर स्टेशन पर उतरते हैं तो वहां से आप इलेक्ट्रिक टेंपो या टांगे की मदद से विश्व शांति स्तूप राजगीर तक पहुंच सकते हैं. एक और खास मैं आपको बात बताऊं वहां पर आज भी टांगे चला करते हैं और वही आपको अच्छी तरीके से घूम आते हैं। यहां टांगा आपको हम जब गए थे मार्च 2021 में तब हमसे टांगे वाले ₹700 लिए थे और मुरार राजगीर घुमाया था।तकरीबन 12 प्रयटक स्थल और पूरा समय देते है ये टांगे वाले साथ साथ आपके पास एक़ विश्वनीय साथी है ऐसा अनुभूति होती है।उम्मीद करते है विश्व शांति स्तूप राजगीर क़े विषय मे आप को प्रयाप्त जानकारी मिल गई होंगी, कुछ त्रुटि हो गई हो तो क्षमा करे।

धन्यवाद

लेखन -गौतम राज़

Leave a Comment