जयपुर में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगह | Best Places to Visit in Jaipur

जयपुर भारत के सबसे बड़े राज्य राजस्थान में स्थिति ही जयपुर को ‘The Pink City‘ के नाम से भी जाना जाता है |Pink City का मतलब गुलाबी शहर राजस्थान की सुंदरता में चार चांद लगा ता यह शहर का इतिहास कुछ ऐसे हे कि पहले समय के राजा राम सिंह ने वालेस के राजकुमार अल्बर्ट एडवर्ड की भारत आने की खुशी में उनके स्वागत के लिए ये शहर शुद्ध गुलाबी रंग से रंगवा दिया था| जिसके बाद इस शहर का नाम The Pink City पड़ गया |

इस शहर की अदभुत सुंदरता और इन इऐतिहासिक किलोमहलों, और झीलों के करण यह शहर बहुत ही मशूर है। भारत में लाखों की तादात में आने वाले टूरिस्ट इस शहर में बहुत ही रुचि से घुमते हैं | यह शहर अपनी परंपरा के साथ साथ अपने बहुत ही स्वादिष्ट खाने के लिए भी मशूर है। हर साल यहां पर बहुत ही मेले भी आयोजित होते हैं जिसमें बहुत ही प्रमुख एलिफेंटा महोत्सव होता है जोकी हिंदुओं का एक प्रमुख त्योहर भी हैं | यह महोत्सव होली के अवसर पर किया जाता है और यहां पर आप ऊंट की सवारी, Rock Climbing, और गुब्बारों की सैर भी कर सकते हैं |

जयपुर का इतिहास | History Of Jaipur In Hindi

जयपुर राजस्थान में स्थित शहर का नाम महाराजा जय सिंह के नाम पर रखा गया था | शहर का निर्माण महाराजा जय सिंह ने सन 1727 ईस्वी मैं किया गया था | इस शहर की स्थापना का एक प्रमुख करण यह भी था की महाराज की पुरानी राजधानी आमेर की बड़ी आबादी और पानी की समय को ध्यान में रख कर किया गया था | इस शहर को कई भागो में बना गया था जिसमें से 2 भाग राजा-महाराजा के महल और उनकी खूबसूरत इमरतों के लिए रखा गया था | पहले यह शहर दुसरे ही शहर के जैसे होता था पर वालेस के राजकुमार अल्बर्ट के भारत आने पर उनके स्वागत के लिए शहर को दसरे शहरों से अलग दिखने के लिए शहर इस शहर को गुलाबी रंग में रंग दिया था | जिसके बाद इस शहर को ‘The Pink City‘ के नाम से भी जाना गया |

जयपुर जाने के तरीके | How To Reach Jaipur In Hindi

फ्लाइट से जयपुर पहुँचने का तरीका | How To Reach Jaipur By Flight In Hindi

फ्लाइट के जरिए आप जयपुर आसानी से आ सकता है | जयपुर शहर से लगभाग 10 किलोमीटर दूर सांगानेर हवाई अड्डा मौजूद है | जहाँ पर घरेलु टर्मिनल अर्थ Domestic Flights के लिए 7 किलोमीटर का टर्मिनल मौजद है | यहां से सभी बड़ी एयरलाइन्स जैसी एयर इंडिया, इंडिगो,जेट एयरवेज, और भी एयरलाइंस दुसरे शहरों से जैसी दिल्ली, कोलकाता, पटना, मुंबई, बेंगलुरु, आगरा, रांची, लखनऊ और भोपाल जैसे बड़े शहरों को जोड़ती है | यहां से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें भी दुबई, मस्कट, शाहजहां जैसे और बड़े शहरों के लिए सीधी उड़ानें भी जाति है इसका टर्मिनल का आकार लगभाग 10 किलोमीटर है |

जयपुर के लिए सस्ती फ्लाइट | Cheap Flights To Jaipur

सभी बड़े शेरो जैसे दिल्ली, मुंबई से जयपुर तक की फ्लाइट का खारचा 1200 रुपये से लेकर 3500 रुपये तक हो सकता है | सस्ती फ्लाइट लेने के लिए आप अपनी फ्लाइट्स को 20 से 25 दिन पहले करवा दे |

  • दिल्ली से जयपुर उड़ानें ₹1,195
  • मुंबई से जयपुर उड़ानें ₹1,582
  • कोलकाता से जयपुर उड़ानें ₹3,602
  • बेंगलुरु से जयपुर उड़ानें ₹2,974
  • पटना से जयपुर उड़ानें ₹3,099
  • लखनऊ से जयपुर उड़ानें ₹2,518
  • रांची से जयपुर उड़ानें ₹3,313
  • भोपाल से जयपुर उड़ानें ₹3,225

ट्रेन से जयपुर पहुँचने का तरीका | How To Reach Jaipur By Train In Hindi

जयपुर, गांधीनगर और दुर्गापुर में कुल 3 रेलवे स्टेशन हैं। जयपुर भारतीय रेलवे के माध्यम से भारत के लगभग सभी प्रमुख शहरों जैसे दिल्ली, कोलकाता, पटना, बनारस, आगरा, बीकानेर, जोधपुर, उदयपुर, चेन्नई, मधुरा और अयोध्या से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। जुड़ा हुआ है। लगभग सभी ट्रेनें जयपुर में रुकती हैं और कुछ ट्रेनें दुर्गापारा और गांधीनगर में भी रुकती हैं। स्टेशन पर उतरने के बाद आप अपने होटल पहुंचने के लिए यहां से ऑटो, बस या टैक्सी ले सकते हैं।

सड़क से जयपुर पहुँचने का तरीका | How To Reach Jaipur By Road In Hindi

जयपुर सड़क मार्ग से NH8, NH11 और NH12 के माध्यम से आप दिल्ली, मुंबई आगरा कोटा बीकानेर अजमेर उदयपुर पटना रांची जैसे भारत के किसी भी कोने से सड़क मार्ग से जयपुर आ सकते हैं। एसी और नॉन एसी वॉल्वो बस की बहुत अच्छी सेवा दिल्ली और जयपुर के बीच भी उपलब्ध है जिसका प्रबंधन (राजस्थान राज्य सड़क परिवहन निगम) द्वारा किया जाता है।

जयपुर में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें | Best Places To Visit In Jaipur In Hindi

जयपुर घूमने की जगह जयगढ़ किला | Jaipur Ghumne Ki Jagah Jaygarh Kila In Hindi

जयगढ़ किला जयपुर की ‘चिल का टीला’ पहाड़ियों पर बना एक विशाल किला है, इस किले का निर्माण सवाई जय सिंह दुती ने 1726 ई. में किया था | बाद में इसे सालो में बदल दिया गया, यहाँ दुनिया की सबसे बड़ी तोप है, जबद टॉप, जो 20 फीट लंबी और 50 टन भारी है, जिसे चार हाथियों के सहारे चलाने के लिए इस्तेमाल किया जाता था, जयगढ़ किले के चारों ओर केवल हरियाली है, जो इसकी सुंदरता बढ़ती है। यह चंद्रमा डालता है, यदि नफरत करने वालों में खुशी है, तो आपको यहां जाना चाहिए क्योंकि यहां विभिन्न प्रकार के पुराने हथियार रखे जाते हैं।

जयपुर के प्रमुख पर्यटन स्थल हवा महल | Hawa Mahal in Jaipur In Hindi

हवा महल जयपुर का प्रमुख पर्यटन स्थल है। इस महल का निर्माण महाराणा सवाई प्रताप सिंह ने 1799 ई. में करवाया था। यह महल पिरामिड के आकार का है और लाल और गुलाबी बलुआ पत्थर से बना है, जो जमीन से 50 फीट ऊपर है। हवा महल का नाम इसकी अद्भुत संरचना से लिया गया है। इसमें कुल 953 खिड़कियाँ हैं, जहाँ से ठंडी हवा महल में प्रवेश करती है और गर्मियों में भी महल को ठंडा रखती है। यह एक पांच मंजिला इमारत है जहां ऊपर की तीन मंजिलों की चौड़ाई एक कमरा जीतना है, जबकि निचली दो मंजिलों में एक आंगन है। यहां के महल के निर्माण का मुख्य उद्देश्य शाही राजपूत महिलाओं को खिड़कियों के माध्यम से सड़क पर होने वाले त्योहार को देखने की अनुमति देना था। हवा महल का प्रवेश शुल्क भारतीयों के लिए 50 रुपये और विदेशियों के लिए इसके 200 रुपये रखे गए हैं।

जयपुर में घुमने वाली जगह अल्बर्ट हॉल संग्राहलय | Albert Hall Museum in Jaipur In Hindi

जयपुर के राम निवास बाग में स्थित यह संग्रहालय जयपुर का सबसे पुराना संग्रहालय है, इसके चारों ओर हरे-भरे बगीचों से सजाया गया है, अल्बर्ट हॉल की नींव वर्ष 1876 में रखी गई थी जब वेल्स के प्रिंस अल्बर्ट एडवर्ड भारत आए थे। इस संग्रहालय का निर्माण राजा राम सिंह ने करवाया था, जिसे बाद में अल्बर्ट एडवर्ड का नाम दिया गया।

आपको जानकर हैरानी होगी कि इस संग्रहालय में 2340 साल पुरानी एक मादा ममी रखी गई है, इतिहास में दिलचस्पी रखने वालों के लिए यहां देखने के लिए बहुत कुछ है।

जयपुर के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल आमेर का किला | Amer Fort of Jaipur In Hindi

आमेर किले को आमेर का किला भी कहा जाता है, जिसे महाराजा मान सिंह ने 1592 ई. में बनवाया था, जो गुलाबी और पीले बलुआ पत्थर से बना है, यह किला जयपुर शहर से लगभग 11 किमी दूर अरावली पहाड़ियों की चोटी पर स्थित है। कुछ ही दूरी पर दुर्ग को शत्रुओं से अधिक सुरक्षित रखने के लिए चारों ओर ऊंची और मोटी दीवारें हैं, जो 12 किमी में फैली हुई हैं। यह एक विशाल किला है जहां दीवाने आम, सुख महल, मोहन बड़ी, गणेश पोल और शीश महल इसके प्रमुख आकर्षण हैं।

शीश महल के बारे में कहा जाता है कि इस महल को राजा ने अपनी रानी के लिए बड़े प्यार से बनवाया था क्योंकि रानी को तारों के नीचे सोना बहुत पसंद था। जयगढ़ और आमेर किले के बीच 2 किलोमीटर लंबी सुरंग भी है, यह किला यूनेस्को की “वर्ल्ड हेरिटेज साइट” में भी शामिल है।

Related posts

Leave a Comment